आध्यात्मिक राष्ट्रवाद सदस्य

सोमवार, 7 दिसंबर 2009

भारत के नाम

भारत के दो आधिकारिक नाम हैं हिन्दी में भारत और अंग्रेज़ी में इन्डिया (India)
इन्डिया नाम की उत्पत्ति सिन्धु नदी के फारसी नाम से हुई है। भारत नाम, एक प्राचीन हिन्दू राजा भरत, जिनकी कथा महाभारत में है, के नाम से लिया गया है। एक तीसरा नाम हिन्दुस्तान जिसकी उत्पत्ति फारसी भाषा से हुई है जिसका अर्थ हिन्दुओं की भूमि होता है और यह नाम मुगल काल से प्रयोग होता है यद्यपि इसका समकालीन उपयोग कम और प्रायः उत्तरी भारत के लिए होता है। इसके अतिरिक्त भारतवर्ष को वैदिक काल से आर्यावर्त और अजनाभदेश के नाम से भी जाना जाता रहा है |

1 टिप्पणी:

  1. भैया जी हिन्दू शब्द उत्पत्ति सिन्धु नदी के नाम पर हुयी है ऐसा कहा गया है पर हमारे ऋग्वेद के ब्रहस्पति आगम्य में हिन्दू शब्द आया है जो कि इस प्रकार है..हिमालयं समारभ्य यावत इन्दुसरोवरं ।तं देवनिर्मितं देशं हिन्दुस्थानं प्रचक्षते ।।अर्थात....हिमालय से इंदु सरोवर तक देव निर्मित देश को हिन्दुस्थान कहते हैं....सिर्फ वेद ही नहीं, बल्कि मेरु तंत्र (शैव ग्रन्थ) में हिन्दू शब्द का उल्लेख इस प्रकार किया गया है....'हीनं च दूष्यत्येव हिन्दुरित्युच्च ते प्रिये'अर्थात... जो अज्ञानता और हीनता का त्याग करे उसे हिन्दू कहते हैं..
    पारिजात हरण में"हिन्दू" को कुछ इस प्रकार कहा गया है |
    हिनस्ति तपसा पापां दैहिकां दुष्टमहेतिभिः शत्रुवर्गं च स हिंदुरभिधियते ।।

    माधव दिग्विजय में हिन्दू शब्द इस प्रकार उल्लेखित है ....
    ओंकारमंत्रमूलाय पुनर्जन्म दृढाशयः ।गोभक्तो भारतगुरूर्हिदुर्हिंसनदूषकः ॥
    अर्थात ... वह जो ओमकार को ईश्वरीय ध्वनि माने... कर्मो पर विश्वास करे, गौ पालक रहे तथा बुराइयों को दूर रखे, हिन्दू है....

    उत्तर देंहटाएं

अभी और बहुत-सी महान उपलब्धियां और विजयोत्सव हमारी प्रतीक्षा में हैं