आध्यात्मिक राष्ट्रवाद सदस्य

सोमवार, 22 अगस्त 2011

रामदेव हमारे लिए एक खतरा : स्विस बैंक - Ramdev is a Danger for us : Swiss Bank Association

स्विस बैंक एसोसिएशन और स्विस सरकार ने बताया है की स्विस बैंको में जमा धन में पन्द्रह लाख करोड डॉलर की भयंकर कमी आयी है .. और स्विस इकोनोमीको खतरा पैदा हो गया है .. वहा के सारे अखबारों और टीवी डिबेट में इसे "रामदेव इफेक्ट " कहा जा रहा है . 

स्विस बैंको में सबसे ज्यादा काला धनभारत से जमा होता है फिर चीन और रूस का नम्बर आता है .. बाबा रामदेव के अभियान से प्रभावित होकर चीन और रूस में भी काले धन के वापस लेन की जोरदार मुहीम चल रही है. चीन सरकार अरब देशो में हुई क्रांति से डरक रतुरंत ही एक कानून बना कर स्विस सरकार से सारा ब्योरा माँगा है और कालेधन विदेश में जमा करने वालो को मृतुदंड देने की क़ानूनी बदलाव किया है,रूस में भी पिछले कई दिनों से लोग काले धन के खिलाफ लेनिन स्क्वायर परप्रदर्शन कर रहे थे आखिरकार रुसी सरकार ने भी २ महीने में सारे काले धनको वापस लेन का देश की जनता को लिखित आश्वाशन दिया है .. 

रूस के सामाजिककार्यकर्ता और रूस में काले धन के खिलाफ आन्दोलन चला रहे बदिमिर इलिनोइचने बाबा रामदेव को प्रेरणाश्रोत मानकर अपना आन्दोलन चलाया ..स्विटरज़रलैंड के लगभग सभी अखबारों जैसे स्विस टुडे, स्विस इलेस्ट्रेटेड,और टीवी चनेलो ने बाबा रामदेव को एक "खलनायक " के रूप में बता रहे है .इधर भारत में भी कांग्रेस पार्टी और सरकार उपरी मन से चाहे जो कुछ भी कहेलेकिन उसे भी अब जनता के जागरूक होने का डर सताने लगा है . 

कांग्रेस इसदेश की टीवी चनेलो और अखबारों को तो खरीद सकती है लेकिन भारत में तेजी सेउभर रही न्यू मीडिया [ वेब पोर्टल , फेसबुक , ट्विटर ] पर चाहकर भी वो प्रतिबन्ध नहीं लगा सकती ..
 एक सर्वे में पाया गया है की इन्टरनेट परकांग्रेस के खिलाफ जोरदार अभियान चल रहा है और ये अभियान कोई पार्टी नहींचला रही है बल्कि इस देश के जागरूक और शिछित युवा चला रहे है जिनका किसीभी राजनितिक पार्टी से कोई लेना देना नहीं है ..कांग्रेस बाबा रामदेव को आर एस एस का एजेंट बताकर बाबा ने जो मुद्दे इसदेश के सामने रखे है उसे झुठला नहीं सकती .. 

बाबा रामदेव ने अपना अनसन कोई हिन्दुत्ववादी मुद्दों को लेकर नहीं किया .. असल में इस देश मेंभ्रष्टाचार से मुस्लिम समाज ज्यादा ही पीड़ित है क्योंकि अशिछा और वोटबैंक की राजनीती ने मुस्लिम समाज को हमेशा ठगा है .. कांग्रेस की शुरू से ही ये निति रही है की दलितो को सवर्णों का भय दिखाओ , सवर्णों को दलितोका भय दिखाओ , मुस्लिम को हिंदू का भय दिखाओ . मुस्लिम को आर एस एस का भयदिखाओ और हिन्दुओ को सिमी और लश्कर का भय दिखाओ .. और वोट हासिल करके इसदेश को जमकर लूटो .. 

एक तरफ कांग्रेस बाबा रामदेव के आन्दोलन को गलत बतारही है लेकिन मारीशस के साथ हुई टैक्स संधि जो कांग्रेस ने अपने नेताओ और राबर्ट बढेरा के फायदे के लिए की थी जिसको समाप्त करने के बाबा ने आन्दोलन किया उसे अब सरकार क्यो समाप्त करने जा रही है ? असल में अबकांग्रेस को एहसास हो गया की लाठी और गोली के दम पर आज तक पुरे विश्व मेंकही और किसी भी आवाज को दबाया नहीं जा सकता है बल्कि वो और भडकता है ............... naveen atrey  (naveenatrey@gmail.com)

1 टिप्पणी:

  1. अभी जर्मन सरकार के बारे में भी पढ़ा कि उन्होंने स्विट्ज़लैंड को टैक्स हैवन स्टेटस से हटाने की धमकी दी और उसके जवाब में स्विस सरकार ने जर्मनी की मांगें मान लीं। बात इच्छा शक्ति की है, हमारी सरकार लंगड़े कानून बनाकर लीपापोती कर लेती है।

    उत्तर देंहटाएं

अभी और बहुत-सी महान उपलब्धियां और विजयोत्सव हमारी प्रतीक्षा में हैं